loading..
Loading contents..., Please wait...

> Skip Navigation Linksपहला पन्ना > खबरें विस्तार से


बड़ी सख़्सियत / राष्ट्रीय / बिग स्पेशल / दिनांक: Saturday, March 18, 2017

एक योगी का राज योग

फायर ब्रांड हिंदूवीर की छवि मुखर एवं प्रखर वक्ता भगवा धारण करने वाले इस योगी का राजयोग जी हां मुख्यमंत्री की रेस में जितने भी नाम थे, उनको पीछे छोड़कर जब योगी आदित्यनाथ के नाम पर आज लखनऊ में मुहर लगी तो हर कोई वजहें तलाशने लगा. आखिर दिल्ली में मोदी तो लखनऊ में योगी का फॉर्मूला कैसे निकला. कहा जा रहा है कि 2017 में योगी को यूपी को गद्दी देने के पीछे असली वजह 2019 है .45 साल के योगी आदित्यनाथ यूपी के 21वें सीएम होंगे. बीजेपी के विधायकों ने बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ को यूपी की कमान सौंपने का फैसला किया. रविवार को योगी आदित्यनाथ सीएम पद की शपथ लेंगे. योगी आदित्यनाथ का जन्म उत्तराखंड के पौड़ी में 5 जून 1972 को हुआ था. उन्होंने गढ़वाल विश्वविद्यालय से बीएससी की डिग्री हासिल की. अस्सी के दशक में जब देश में राम जन्मभूमि आंदोलन अपने चरम पर था, उस दौरान योगी आदित्यनाथ गोरखपुर आ गए. योगी आदित्यनाथ की राजनीति को समझने के लिए इस गोरखनाथ मठ का इतिहास भी जानना जरुरी है. गोरखपुर का गोरखनाथ मठ सैकड़ों एकड़ जमीन में फैला हुआ है. दरअसल आठवीं सदी में मत्सयेंद्र नाथ नाम के एक संत ने नाथ संप
1996 के लोकसभा चुनाव में महंत अवैद्धनाथ के चुनाव अभियान की कमान योगी आदित्यनाथ ने ही संभाली थी. लेकिन इसके दो साल बाद जब 1998 में लोकसभा के चुनाव हुए तो मंहत अवैद्धनाथ ने उन्हें अपना वारिस बना कर चुनाव मैदान में उतार दिया और फिर यहीं से योगी आदित्यनाथ का राजनीतिक सफर शुरु हुआ. उत्तरप्रदेश की गोरखपुर लोकसभा सीट से लगातार पांचवी बार जीत कर योगी आदित्यनाथ संसद तक पहुंचे. समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी, कोई भी यहां उनका तोड़ नहीं निकाल सकी. दरअसल योगी आदित्यनाथ ने विकास के साथ कट्टर हिंदुत्व के एजेंडे को अपनी राजनीतिक का हथियार बनाया. जिससे उनकी राजनीतिक ताकत लगातार बढती ही चली गई. योगी आदित्यनाथ हिंदू युवा वाहिनी नाम का अपना संगठन भी चलाते हैं. उत्तर प्रदेश के करीब 27 जिलों में फैले अपने इस समानांतर संगठन के चलते भी वो चर्चा में रहे. योगी का हिंदू युवा वाहिनी संगठन धर्म परिवर्तन के खिलाफ भी जबरदस्त मुहिम छेड़ा. कट्टर हिंदुत्व की राह पर चलते हुए योगी आदित्यनाथ ने कई विवादित बयान भी दिए लेकिन हर नए विवाद के साथ उनकी राजनीतिक ताकत बढती चली गई. उत्तर प्रदेश की राजनीति में योगी आदित्यनाथ एक ऐसे जनाधार वाले नेता माने जाते हैं जिनका हर चुनाव में जीत के साथ अपना वोट प्रतिशत बढता गया. यही वजह है कि बीजेपी ने उन्हें चुनाव में अपना स्टार प्रचारक बना कर मायावती और अखिलेश यादव के खिलाफ बड़ा दांव चला, जिसका फायदा बीजेपी को हुआ. यूपी में योगी के आने की असली वजह 14 साल के वनवास के बाद जब दोबारा बीजेपी उत्तर प्रदेश की सत्ता में ऐतिहासिक बहुमत के साथ लौटी तो नरेंद्र मोदी ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाकर वो दांव चला है, जिसकी धमक 2019 के लोकसभा चुनाव में गूंजनी तय है. 300 से ज्यादा विधायकों की ताकत वाले बीजेपी गठबंधन की सरकार योगी आदित्यनाथ चलाएंगे. वो योगी आदित्यनाथ जिनकी हिंदुत्ववादी छवि ही अब तक रोड़ा बनती रही है. उन्हीं योगी को सीएम पद की कुर्सी मिली है तो इसकी बड़ी वजह योगी की कट्टर हिंदुत्ववादी छवि ही मानी जा रही है. 90 के दशक में बीजेपी को जब स्पष्ट बहुमत मिला था तो कल्याण सिंह जैसे कट्टर हिंदुत्ववादी नेता को मुख्यमंत्री बनाया गया था. अब 2017 में एक बार फिर से बीजेपी 325 सीटें लेकर सरकार बनाने निकलीं तो मोदी-अमित शाह ने हिंदुत्वादी राजनीति के पुरोधा योगी आदित्यनाथ पर भरोसा किया है. संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि लोगों ने योगी का नाम सुना तो सब हर्ष से स्वीकार किया. कहा जा रहा है कि 2017 में योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाने के पीछे सोच हिंदुत्व की चाल और विकास के चेहरे को आगे करने की है. एक ऐसा सियासी घोल जो 2019 में भी बीजेपी को दिल्ली की सत्ता यूपी से दिला सकता है. योगी आदित्यनाथ का सियासी सफर सिर्फ 26 साल में सांसद बनने वाले योगी आदित्यनाथ पांच बार से लोकसभा चुनाव जीत रहे हैं. लंबा राजनीतिक अनुभव रखने वाले योगी आदित्यनाथ सीएम पद की रेस में दूसरों से आगे निकले तो इसकी भी एक बड़ी वजह है. उत्तर प्रदेश के चुनावी नतीजों से एक बात गौर करने वाली रही है, वो ये कि जातिगत समीकरणों के मिथक इस बार टूटे हैं. इसीलिए योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री चुनने के पीछे एक वजह ये भी है. ताकि योगी के नाम पर जाति की राजनीति का जाल तोड़कर उसे हिंदू राजनीति के नाम पर बड़ा कैनवास दिया जाए. योगी आदित्यनाथ जिस गोरक्षापीठ से जुड़े हुए हैं. उसका मंत्र ही है जाति-पाँति पूछे नहिं कोई-हरि को भजै सो हरि का होई. माना जा रहा है कि योगी को सीएम बनाने का सीधा संदेश ये है कि उत्तर प्रदेश में दलित और यादव वोटबैंक पर आधारित राजनीति को हिंदू वोटबैंक के नाम पर तोड़ा जाए. और इसी आधार पर 2019 का चुनाव जीत लिया जाए. इस बात में दम है, ये विरोधियों के बयान से साबित भी होती है. याद करिए उत्तर प्रदेश के चुनाव में जब बिजली, श्मशान, कब्रिस्तान, एंटी रोमियो स्क्व़ॉयड जैसे बयान देकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह वोट मांग रहे थे, तब योगी आदित्यनाथ ही इनके बाद इकलौते नेता थे, जो हर सभा में अखिलेश यादव के विकास कार्यों को हिंदू-मुस्लिम के बीच में बंटा हुआ दिखाकर राजनीति कर रहे थे. यूपी में ऐसे फिट किए बीजेपी ने जातीय समीकरण लेकिन बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को आगे करके जहां हिंदुत्व का संदेश और विकास का रास्ता अपनाया है. वहीं दो डिप्टी सीएम चुनते हुए, जातियों की राजनीति बैलेंस भी करनी चाही है. जिसके बाद कुल मिलाकर अब उत्तर प्रदेश से दिल्ली की राजनीति कुछ ऐसे साधी जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- विकास का चेहरामुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ- हिंदुत्व का चेहराउप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य- पिछड़े वर्ग का चेहराउप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा- ब्राह्मण चेहराबीजेपी ने मंत्रियों के पदों को लेकर जो जातीय समीकरण बिछाए हैं, माना जा रहा है कि 2017 का यही फॉर्मूला 2019 में लोकसभा चुनावों में बीजेपी की जीत का रास्ता खोल सकता है. उत्तर प्रदेश के 17वें विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल करने वाली बीजेपी ने सीएम पद के लिए योगी आदित्यनाथ के नाम पर मुहर लगा दी गई. आज शाम लखनऊ में हुई विधायक दल की बैठक में योगी आदित्यनाथ के नाम का ऐलान किया गया. इसके साथ आजादी के 67 सालों में यूपी को 21वां मुख्यमंत्री मिला. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में आजादी के बाद से 20 मुख्यमंत्री बन चुके हैं. गोविंद बल्लभ पंत 26 जनवरी 1950 को यूपी के पहले मुख्यमंत्री बने थें. अखिलेश यादव ने 15 मार्च 2012 को यूपी के 20वें मुख्यमंत्री के रुप में पदभार संभाला था. जिनका कार्यकाल मार्च 2017 में पूरा हो गया है. जानें अब तक यूपी में कब-कब और किन-किन मुख्यमंत्रियों ने संभाली है कमान ? यूपी के मुख्यमंत्री और उनके कार्यकाल 1- गोविंद बल्लभ पंत – 26 जनवरी 1950 से 27 दिसंबर 1954 2- संपूर्णानंद – 28 दिसंबर 1954 से 6 दिसंबर 1960 3- चंद्र भानु गुप्ता – 7 दिसंबर 1960 से 1 अक्टूबर 1963 4- सुचेता कृपलानी – 2 अक्टूबर 1963 से 13 मार्च 1967 5- चरण सिंह – 3 अप्रैल 1967 से 25 फरवरी 1968 6- त्रिभुवन नारायण सिंह – 18 अक्टूबर 1970 से 3 अप्रैल 1971 7- कमलापति त्रिपाठी – 4 अप्रैल 1971 से 12 जून 1973 8- हेमवती नंदन बहुगुणा – 8 नवंबर 1973 से 29 नवंबर 1975 9- नारायण दत्त तिवारी – 21 जनवरी 1976 से 30 अप्रैल 1977 10- राम नरेश यादव – 23 जून 1977 से 27 फरवरी 1979 11- बनारसी दास – 28 फरवरी 1979 से 17 फरवरी 1980 12- वी पी सिंह – 9 जून 1980 से 18 जुलाई 1982 13- श्रीपति मिश्रा – 19 जुलाई 1982 से 2 अगस्त 1984 14- वीर बहादुर सिंह – 24 सितंबर 1985 से 24 जून 1988 15- मुलायम सिंह यादव – 5 दिसंबर 1989 से 24 जून 1991 16- कल्याण सिंह – 24 जून 1991 से 6 दिसंबर 1992 17- मायावती – 3 जून 1995 से 18 अक्टबूर 1995 18- राम प्रकाश गुप्ता – 12 नवंबर 1999 से 28 अक्टूबर 2000 19- राजनाथ सिंह – 28 अक्टूबर 2000 से 8 मार्च 2002 20- अखिलेश यादव – 15 मार्च 2012 से 19 मार्च 2017 21-योगी आदित्यनाथ- 19 मार्च 2017 45 साल के योगी आदित्यनाथ यूपी के 21वें सीएम होंगे. बीजेपी के विधायकों ने बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ को यूपी की कमान सौंपने का फैसला किया. रविवार को योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम पद की शपथ लेंगे. भगवा चोला और कट्टर हिंदुत्व वाली छवि योगी आदित्यनाथ की रही है. यही अंदाज बाकी नेताओं से आदित्यनाथ को अलग बनाती है. हिंदुत्व के सवाल पर खुलकर अपनी राय रखने वाले आदित्यनाथ की छवि भले ही विवादित नेता वाली हो लेकिन अपनी राय रखने में वो किसी की नहीं सुनते. मूल रूप से उत्तराखंड के राजपूत परिवार में जन्मे आदित्यनाथ का असली नाम अजय सिंह है. नीचे दिए गए बिंदुओं में जानें उनके बारे में… – 45 साल के आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को हुआ है – गोरखपुर से लगातार पांचवीं बार बीजेपी के सांसद हैं – पहली बार उन्होंने 1998 में लोकसभा का चुनाव जीता – तब उनकी उम्र महज 26 साल थी – गोरखपुर के गोरखनाथ मठ के महंत हैं योगी आदित्यनाथ – योगी आदित्यनाथ का एक धार्मिक संगठन भी है हिंदू युवावाहिनी..जिसका पूर्वी उत्तर प्रदेश में खासा दबदबा है.


एक योगी का राज योग


ताज़ा ख़बरें

अन्नदाता के नाम पर बैठे भी और उठ भी गए

मध्य प्रदेश में शांति बहाली और किसानों से उनकी मांगों पर चर्चा के लिए शनिवार से भेल के दशहरा मैदान में अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तरफ से कर्ज माफी का आश्वासन न मिलने पर किसानों ने भी उपवास शुरू कर दिया है. आम किसान यूनियन और राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के प्रतिनिधियों ने शनिवार शाम शिवराज से दशहरा मैदान में मुलाकात की और कर्ज माफी और लागत के आधार पर मूल्य तय करने की ».... आगे पढ़ें

एक देश एक टैक्स = जीएसटी

आज सर्विसेज पर लगने वाले जीएसटी की दरें तय कर दी गर्ई हैं। ये हैं 5, 12, 18 और 28 फीसदी। कुछ सेवाओं को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है। इनमें मुख्य रूप से शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं हैं। ट्रांसपोर्ट को जरूरी सेवा मानते हुए उस पर 5 फीसदी की दर तय की गई है। लग्जरी मानी जाने वाली सेवाओं पर 28 फीसदी टैक्स लगाया गया है। इनमें पांच सितारा होटल, सिनेमा, रेस कोर्स आदि हैं। सोने और कुछ अन्य चीजों पर आज ».... आगे पढ़ें

अन्नदाता का आक्रोश नहीं समझ पाए किसान श

मध्यप्रदेश के मंदसौर में किसानों पर गोलीबारी को लेकर शिवराज सरकार बैकफुट पर आती दिख रही है। बीजेपी के नेता कल तक कह रहे थे कि मंदसौर की घटना कांग्रेस की साजिश है। लेकिन आज राज्य के गृहमंत्री ने स्वीकार किया कि किसानों की मौत पुलिस की गोली से हुई। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी माना कि किसानों पर गोली नहीं चलनी चाहिए थी। उधर कांग्रेस ने राज्य सरकार पर दबाव बढ़ा दिया है। मंदसौर में किसानों पर गोलीबा ».... आगे पढ़ें

नर्मदा सेवा यात्रा का विराम और नर्मदा से

नर्मदा सेवा यात्रा का विराम और नर्मदा सेवा मिशन का शुभारंभ मध्यप्रदेश ने किया नदी संरक्षण का अदभुत काम नर्मदा सेवा मिशन कार्य-योजना सभी राज्यों को भेजें - प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी विश्वविद्यालय में नदी संरक्षण की पढ़ाई के लिए खोला जायेगा विभाग : मुख्यमंत्री श्री चौहान आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने प्रधानमंत्री को राष्ट्र ऋषि और सभ्यता, संस्कृति और संवेदना के सुमेल वाला ».... आगे पढ़ें

अन्तर्राष्ट्रीय (अराउंड द वर्ल्ड)

नमो @ शिवाय

पूजन अर्चन वैदिक मंत्रोचारण के साथ केदारनाथ मंदिर के कपाट आज सुबह 8.50 बजे श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस खास पल के साक्षी बनने के लिए केदारनाथ धाम पहुंचे। इस दौरान उन्‍होंने केदारनाथ बाबा के दर्शन किए। उन्‍होंने मंदिर के गर्भगृह में बाबा केदारनाथ का रुद्राभिषेक किया। इस दौरान वह करीब 30 मिनट तक मंदिर के गर्भगृह में रहे। पूजा के बाद पीएम मोदी श्रद्ध ».... आगे पढ़ें

रेड आइफोन 7

समथिंग स्पेशल की अनाउंसमेंट से सबके बीच खलबली मचाने के बाद आखिरकार एप्पल ने अपने नए प्रोडक्ट्स लॉन्च कर दिए हैं। नए आइपैड के साथ एप्पल ने आइफोन का स्पेशल एडिशन भी लॉन्च किया है। एक नजर डालते हैं एप्पल के इन नए गैजेट्स पर। एप्पल के नए प्रोडक्ट लॉन्च में सबका ध्यान खींचा लाल आईफोन ने। जी हां, एप्पल ने अपने आइफोन 7 और आइफोन 7 प्लस का स्पेशल एडिशन आइफोन रेड लॉन्च कर दिया है। ये आईफोन एप्पल और एड्स पी ».... आगे पढ़ें

शिव-नवरात्री

आज से शिव-नवरात्री आंरभ जय हो जगत जननी आदि शक्ति माँ जगदम्बा एवं जगत पिता बड़े ही दयालु भगवान श्री भोलेनाथ जी की हम सभी पर श्री शिव परिवार का आशीर्वाद सदेव बना रहे। माह शिवरात्रि विशेष 16/02/2016 से 24/02/2017 श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में महाशिवरात्रि के पहले शिव नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। शिव नवरात्रि का पर्व बड़े ही उत्साह से मनाया जाता है, जिसके अतंर्गत प्रतिदिन बाबा मह ».... आगे पढ़ें

हम अच्छा दिखना चाहते हैं, अच्छे बनना नही

जीवन की दिव्यता के लिए हिमालय पर जाने की जरूरत नहीं। यह हमें दिव्यता जन्म से मिली हुई है, जरूरत उसे जाग्रत करने की है। हमें जो कुछ मिला वह अनुपम और दिव्य है। कुछ प्राप्त करना है तो सही दिशा में प्रयास करना चाहिए। सबसे बड़ी चुनौती स्वयं को जानना है। जीवन में सबसे कठिन काम है सरल बनना। हम अच्छे दिखें, इसकी चिंता कम और अच्छे बनने की कोशिशें ज्यादा करें। यह बात जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर ».... आगे पढ़ें

व्हाइट हाउस

डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के पैंतालिसवें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ले ली है। व्हाइट हाउस में एक शानदार कार्यक्रम में मुख्य न्यायाधीश जॉन राब‌र्ट्स ने ट्रंप को राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई। इससे पहले माइक पेंस ने उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली। शपथ लेने के बाद ट्रंप ने अमेरिकी जनता और पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का धन्यवाद किया। अमेरिकी परंपरा के अनुसार उन्होंने ऐतिहासिक लिंकन बाइबिल पर हाथ रखकर शपथ ली। उन ».... आगे पढ़ें

राष्ट्रीय (एकता मे अनेकता)

अब आधार को पेन से जोड़ना होगा आसान

अब आधार नंबर को अपने पेन से जोड़ना और आसान हो गया है। इनकम टैक्स विभाग ने इसके लिए एक नई सुविधा लॉन्च की है। विभाग ने अपनी ई-फाइलिंग वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in/ पर एक लिंक बनाया है। इस लिंक पर क्लिक करते ही एक पेज खुलेगा, जिसमें आपको अपना पैन नंबर, आधार नंबर और आधार कार्ड पर दर्ज नाम लिखना होगा। इसके बाद जब आप लिंक आधार बटन पर क्लिक करेंगे तो इनकम टैक्स विभाग आपकी जानकारी की पुष्टि यूआईड ».... आगे पढ़ें

एक योगी का राज योग

फायर ब्रांड हिंदूवीर की छवि मुखर एवं प्रखर वक्ता भगवा धारण करने वाले इस योगी का राजयोग जी हां मुख्यमंत्री की रेस में जितने भी नाम थे, उनको पीछे छोड़कर जब योगी आदित्यनाथ के नाम पर आज लखनऊ में मुहर लगी तो हर कोई वजहें तलाशने लगा. आखिर दिल्ली में मोदी तो लखनऊ में योगी का फॉर्मूला कैसे निकला. कहा जा रहा है कि 2017 में योगी को यूपी को गद्दी देने के पीछे असली वजह 2019 है .45 साल के योगी आदित्यनाथ य ».... आगे पढ़ें

इंदौर बना स्वच्छता का ब्रांड एम्बेस्डर

मध्यप्रदेश की कारोबारी राजधानी के नाम से मशहूर इंदौर देश भर में स्वच्छ शहर के रूप में पहचाना जाएगा जी हां स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 की रैंकिंग आज जारी हो गई है। साफ सफाई के मामले में मध्यप्रदेश का इंदौर देश में सबसे साफ सुथरा शहर है और भोपाल नंबर दो पर है। वहीं तीसरे नंबर पर विशाखापत्तनम, चौथे स्थान पर सूरत और पांचवें स्थान पर मैसूर है। वहीं यूपी का गोंडा गंदगी में सबसे आगे है तो महाराष्ट्र का भुस ».... आगे पढ़ें

यूपी को यह साथ पसंद नहीं आया राम के

पांच राज्यों में जारी मतगणना से लगभग साफ हो चुका है कि एग्ज़िट पोल सभी राज्यों में लगभग पूरी तरह नाकाम साबित हुए हैं. अधिकतर एग्ज़िट पोलों में यूपी में 160 से 190 सीटों के बीच सबसे आगे बताई जा रही बीजेपी को 300 से भी ज़्यादा सीटें मिलने के आसार दिखाई दे रहे हैं, जबकि एग्ज़िट पोलों में उन्हें कड़ी टक्कर देते नज़र आ रहे सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन को 100 का आंकड़ा छूना भी मुमकिन ».... आगे पढ़ें

1 अप्रैल 2017 बड़े बदलाव

1 अप्रैल 2017 से नया कारोबारी साल शुरू हो जाएगा और सरकारी नियम-कायदों में कई बदलाव भी लागू हो जाएंगे. इन्हीं में हमारे-आपके जानने के लिए जरूरी हैं इनकम टैक्स के नियम. अगर आप टैक्स प्लानिंग और टैक्स बचत को लेकर सजग रहते हैं, तो आपको 1 अप्रैल से बदलने वाले नए नियमों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है. इन बदलावों को हम मोटे तौर पर दो भागों में बांट सकते हैं. पहला- इनकम टैक्स रिटर्न भरने के नियम, और दूसरा- इ ».... आगे पढ़ें

वसंती बजट का गुणा भाग

चुनाव से ठीक पहले आया इस बार का बजट कई मायनों में यादगार बजट रहा है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस बार एक ओर इनकम टैक्स की दर कम करके छोटे करदाताओं को राहत दी है, तो दूसरी ओर राजनैतिक पार्टियों के चंदे पर मास्टरस्ट्रोक चला है। वित्त मंत्री ने किसी एक स्रोत से नकद चंदे की सीमा घटाकर 2 हजार रुपये कर दी है। डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्री ने 3 लाख रुपये से ज्यादा के कैश लेन देन को बै ».... आगे पढ़ें

मध्यप्रदेश (एम.पी.अजब हे)

मध्यप्रदेश बना देश का पहला राज्य

मध्यप्रदेश बना देश का पहला राज्य बन ने जारहा है जंहा कारोबारी साल की तारीख बदल गया है और अब ये 1 जनवरी से 31 दिसंबर तक होगा। मध्यप्रदेश सरकार ने ये फैसला लिया है। नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में प्रधानमंत्री ने कारोबारी साल में बदलाव की अपील की थी, ऐसा करने के तरफ मध्य प्रदेश कैबिनेट ने अहम फैसला लिया है और कारोबारी साल बदलने वाला मध्य प्रदेश पहला राज्य बन गया है। अभी तक केंद्र और राज्य ».... आगे पढ़ें

जयंत का जमा खर्च (बजट )

मध्यप्रदेश विधानसभा में वित्तमंत्री जयंत मलैया ने आज 2017-18 के लिए आर्थिक बजट पेश कर दिया है। उन्‍होंने बजट भाषण के दौरान कहा कि मध्यप्रदेश के बजट में सबका साथ, सबका विकास पर जोर है। दृष्टिपत्र 2018 से राज्य की विकास नीति सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी। इसके बाद उन्‍होंने बजट से संबंधित जानकारी सदन को प्रदान की।1- काफी समय से सातवें वेतन आयोग के लागू होने की असमंजस की स्थिति पर आज वित्‍त मंत्री ने ».... आगे पढ़ें

एक दिन के गुरूजी

आज मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री कलेक्टर कमिश्नर से लेकर आईजी डीआईजी सभी एक दिन के गुरूजी बने नज़र आये आओ मिल बांचे अभियान में सभी लोग स्कूल में पढ़ाते नज़र आये पाठ पढ़ते, कविता सुनाते, जोड़-घटाना करते और शिक्षाप्रद कहानी सुनते-सुनाते भाँजे-भाँजियाँ और उन्हें ज्ञान-संस्कार की सीख देने का आत्मीय दृश्य शनिवार को भोपाल के शासकीय संजय गांधी माध्यमिक शाला में देखने को मिला, जहाँ मुख्यमंत ».... आगे पढ़ें

नमामि देवी नर्मदे

एक समय पृथ्वी लोक में पापों की वृद्धि हुई पाप इतना बड़ा की प्रकृति ने रुष्ट हो कर अपने नियम ही बदल लिए। जिसके फलस्वरुप भयंकर सूखा अकाल पढ़ा लोग खाने और पानी की एक एक बूंद के लिए तरसने लगे भीषण गर्मी कई वर्षों तक वर्षा ऋतु आई ही नहीं। तब सारे ऋषि मुनियों और सारे भक्त मिलकर त्राहिमाम त्राहिमाम शिव शंकर त्राहिमाम करने लगे। वहां कैलाश पर्वत पर भगवान शंकर ध्यान मग्न विराजमान थे जब सारी ऋषि-मुनि और भक् ».... आगे पढ़ें

बेटियों से छेड़छाड़ करने वालों को तत्काल ग

पुलिस प्रशासन को सभी प्रकार के माफिया का सफाया करने का लक्ष्य देते हुए कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन के लिए पुलिस प्रशासन का प्रभावी होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था विकास के लिए अनिवार्य शर्त है। श्री चौहान आज यहाँ पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की उच्च-स्तरीय बैठक में नये साल की प्राथमिकताओं और लक्ष्यों पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को नववर्ष की बधा ».... आगे पढ़ें

इंदौर (मेरे सपनो का शहर)

गेट सेट गो डिजिटल

"हेल्दी और स्मार्ट इंदौर के लिए, जियो इंदौर मैराथन रविवार को" *- 21 और 10 किलोमीटर की दौड़ नेहरू स्टेडियम से एवं 5 किलोमीटर की दौड़ राजवाड़ा से प्रारम्भ होगी। अंत में सभी नेहरू स्टेडियम में एकत्रित होंगे। * - जियो इंदौर मैराथन में फिल्म कलाकार अर्जुन रामपाल, रिमी सेन, राष्ट्रिय स्तर के धावक, सैनिक, डॉक्टर्स, इंजिनीयर्स, सीए और कुछ ख़ास लोग भी अपनी शारीरिक अक्षमताओं को पीछे छोड़कर अपनी मंज़िल की औ ».... आगे पढ़ें

इंदौर में वि रा रा रा रा रा रा ट क्रिकेट

इंदौर के क्रिकेट इतिहास में पहले टेस्ट मैच में दोहरे शतक लगे भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच तीसरे टेस्‍ट मैच के दूसरे दिन का खेल जारी है. सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त ले चुकी टीम इंडिया ने पहली पारी में दूसरे दिन लंच के बाद 3 विकेट पर 406 रन बना लिए हैं. विराट कोहली (175 रन, 303 गेंदें, 17 चौके) और अजिंक्य रहाणे (146 रन, 288 गेंदें, 13 चौके, 4 छक्के) क्रीज पर हैं. रहाणे ने 210 गेंदों में अपना आठवां ».... आगे पढ़ें

नर्मदा का जल दवाइयों के लिये सर्वाधिक उप

इंदौर 22 दिसम्बर, 2016 हांगकांग की बालाजी फर्मास्युटिकल कम्पनी ने पीथमपुर के आसपास 2 हजार करोड़ रूपये का निवेश करने की इच्छुक है। कम्पनी के सीईओ ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के दौरान इस संबंध में चर्चा की थी। उन्होंने बताया कि नर्मदा का जल दवाइयों के लिये सर्वाधिक उपयुक्त व गुणकारी होता है। नर्मदा जल का उपयोग दवाइयों में किये जाने पर बेहतर परीणाम प्राप्त हुये हैं। उन्होंने पीथमपुर में तीन प्लॉट भी ब ».... आगे पढ़ें

टेस्ट क्रिकेट @ इंदौर

इंदौर अपने पहले टेस्ट मैच के लिए पूरी तरह तैयार है और 8 अक्टूबर से होलकर स्टेडियम में क्या नजारा रहेगा, इसका अंदाजा गुरुवार को टीमों के प्रैक्टिस सेशन के दौरान लग गया था। होलकरों की नगरी इंदौर के क्रिकेट इतिहास में शनिवार को गौरवशाली पन्ना जुड़ेगा जब भारत और न्यूजीलैंड के बीच सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच खेला जाएगा। भारत में इस सत्र में कुल 13 टेस्ट मैच खेले जाने है और बीसीसीआई ने कुछ समय ».... आगे पढ़ें

अन्न कूट

हमारे वेदों में कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा के दिन वरुण, इन्द्र, अग्नि आदि देवताओं की पूजा का विधान है। इसी दिन बलि पूजा, गोवर्धन पूजा, मार्गपाली आदि होते हैं। इस दिन गाय-बैल आदि पशुओं को स्नान कराकर, फूल माला, धूप, चंदन आदि से उनका पूजन किया जाता है। गायों को मिठाई खिलाकर उनकी आरती उतारी जाती है। यह ब्रजवासियों का मुख्य त्योहार है। अन्नकूट या गोवर्धन पूजा भगवान कृष्ण के अवतार के बाद द्वापर युग से प्रा ».... आगे पढ़ें

इंदौर में कैटरिना के हाथ क्राइम

सिने तारिका कैटरीना कैफ के हाथ में क्राइम जी हां चौंकिए मत दरअसल अपनी फिल्म का प्रोमोसन करने इंदौर पहुंची कैटरिना ने इंदौर पुलिस की स्पेशल ब्रांच क्राइम वाच का भी प्रोमोश्न किया ट्रैफीक सिंघम रणजीत इस मौके पर साथ नज़र आये इंदौर की सडको पर शुक्रवार को कैटरिना केफ और सिद्धार्थ मलहोत्रा ने अपने जलवे बिखेरे, कैटरीना सिद्धार्थ ने न सिर्फ डांस भी किया और इंदौर अपने कार्यक्रम बार बार देखो का प्रमोशन के ».... आगे पढ़ें

करवा चौथ व्रत की पूजन विधि

करवा चौथ का दिन और संकष्टी चतुर्थी, जो कि भगवान गणेश के लिए उपवास करने का दिन होता है, एक ही समय होते हैं। विवाहित महिलाएँ पति की दीर्घ आयु के लिए करवा चौथ का व्रत और इसकी रस्मों को पूरी निष्ठा से करती हैं। विवाहित महिलाएँ भगवान शिव, माता पार्वती और कार्तिकेय के साथ-साथ भगवान गणेश की पूजा करती हैं और अपने व्रत को चन्द्रमा के दर्शन और उनको अर्घ अर्पण करने के बाद ही तोड़ती हैं। करवा चौथ का व्रत कठोर ».... आगे पढ़ें

गुरु पूर्णिमा महोत्सव

इंदौर: सदगुरु डॉ. श्री भय्यूजी महाराज प्रणित श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट द्वारा इस वर्ष गुरु पूर्णिमा महोत्सव पिछले वर्षों की अपेक्षा पूर्ण सादगी एवं धार्मिक निष्ठा के साथ मनाया जाएगा। सामान्य तौर पर गुरु पूर्णिमा महोत्सव के अंतर्गत होने वाले कार्यक्रमों को इस वर्ष महाराष्ट्र एवं देश के अन्य भागों में सूखे, अवर्षा से त्रस्त किसानों एवं गरीबों की दुर्दशा को देखते हुए एवं बड़ी संख् ».... आगे पढ़ें

मोदी का डंका

इस वीडियो पर आपकी प्रतिक्रिया
<< 1 2 3 4 5 6 7 >>

Video Gallery

आपकी प्रतिक्रिया

इस वीडियो पर आपकी प्रतिक्रिया लिखें
आपका नाम
आपका ईमेल एड्रेस
आपका शहर  
Loading...

बड़ी शख़्सियत


  • इंदौर बना स्वच्छता का ब्रांड एम्बेस्डर

    मध्यप्रदेश की कारोबारी राजधानी के नाम से मशहूर इंदौर देश भर में स्वच्छ शहर के रूप में पहचाना जाएगा जी हां स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 की रैंकिंग आज जारी हो गई है। साफ सफाई के मामले में मध्यप्रदेश का इंदौर देश में सबसे साफ सुथरा शहर है और भोपाल नंबर दो पर है। वहीं तीसरे नंबर पर विशाखापत्तनम, चौथे स्थान पर सूरत और पांचवें स्थान पर मैसूर है। वहीं यूपी का गोंडा गंदगी में सबसे आगे है तो महाराष्ट्र का भुस ».... आगे पढ़ें


  • नमो @ शिवाय

    पूजन अर्चन वैदिक मंत्रोचारण के साथ केदारनाथ मंदिर के कपाट आज सुबह 8.50 बजे श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस खास पल के साक्षी बनने के लिए केदारनाथ धाम पहुंचे। इस दौरान उन्‍होंने केदारनाथ बाबा के दर्शन किए। उन्‍होंने मंदिर के गर्भगृह में बाबा केदारनाथ का रुद्राभिषेक किया। इस दौरान वह करीब 30 मिनट तक मंदिर के गर्भगृह में रहे। पूजा के बाद पीएम मोदी श्रद्ध ».... आगे पढ़ें


  • एक योगी का राज योग

    फायर ब्रांड हिंदूवीर की छवि मुखर एवं प्रखर वक्ता भगवा धारण करने वाले इस योगी का राजयोग जी हां मुख्यमंत्री की रेस में जितने भी नाम थे, उनको पीछे छोड़कर जब योगी आदित्यनाथ के नाम पर आज लखनऊ में मुहर लगी तो हर कोई वजहें तलाशने लगा. आखिर दिल्ली में मोदी तो लखनऊ में योगी का फॉर्मूला कैसे निकला. कहा जा रहा है कि 2017 में योगी को यूपी को गद्दी देने के पीछे असली वजह 2019 है .45 साल के योगी आदित्यनाथ य ».... आगे पढ़ें


  • जयंत का जमा खर्च (बजट )

    मध्यप्रदेश विधानसभा में वित्तमंत्री जयंत मलैया ने आज 2017-18 के लिए आर्थिक बजट पेश कर दिया है। उन्‍होंने बजट भाषण के दौरान कहा कि मध्यप्रदेश के बजट में सबका साथ, सबका विकास पर जोर है। दृष्टिपत्र 2018 से राज्य की विकास नीति सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी। इसके बाद उन्‍होंने बजट से संबंधित जानकारी सदन को प्रदान की।1- काफी समय से सातवें वेतन आयोग के लागू होने की असमंजस की स्थिति पर आज वित्‍त मंत्री ने ».... आगे पढ़ें


Loading...
Loading...
Loading...



Top